शर्म करिए मेयर साहिबा, मर गया वो 'बेचारा'

शर्म करिए मेयर साहिबा, मर गया वो

घोटाले के कई आरोपों से घिरे इलाहाबाद नगर निगम का बड़ा नकारापन सामने आया है। दरअसल बहादुरगंज के ठाकुरदीन का हाता मोहल्ले में एक सांड़ कुंएं में गिर गया। हैरानी की बात यह है कि उस सांड़ को 24 घंटे बाद कुंएं से निकाला गया वो भी मौत के बाद। जिस कुंए में सांड़ गिरा था, वहां से पूरे मोहल्ले में पानी की आपूर्ति होती थी। सांड़ के मरने से पूरे मोहल्ले में दुर्गध फैली तो शुक्रवार को स्थानीय लोगों के साथ भाजपाइयों ने महापौर अभिलाषा गुप्ता के घर प्रदर्शन किया। हंगामे की खबर पाकर पहुंची मुट्ठीगंज पुलिस ने फायर ब्रिगेड के सहयोग से मरे हुए सांड को कुएं से बाहर निकाला।

स्थानीय लोगों के मुताबिक सांड़ के कुंएं में गिरने के बाद लोगों ने इस बात की जानकारी स्थानीय पार्षद को दी थी, जिस पर उन्होंने मेयर से शिकायत करने की सलाह दी। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के महानगर संयोजक राजेश केसरवानी ने महापौर से इस बारे में शिकायत की। उन्होंने सांड़ को जल्द निकलवाए जाने का आश्वासन दिया मगर पूरी रात बीत जाने के बाद भी सांड़ नहीं निकाला जा सका। इस बीच उसकी मौत हो गई। सांड़ गिरने के बाद पानी की आपूर्ति ठप हुई तो लोग भीषण गर्मी में बिलबिला उठे। सांड़ के मरने से दुर्गध उठी तो लोगों का जीना मुहाल हो गया। इस बात से आक्रोशित स्थानीय लोगों ने भाजपा नेता राजेश केसरवानी के नेतृत्व में दोपहर लगभग एक बजे महापौर के घर प्रदर्शन शुरू कर दिया। माहौल बिगड़ने की सूचना पर पहुंचे मुट्ठीगंज थानाध्यक्ष अशोक दुबे ने अग्निशमन दस्ते से संपर्क कर किसी तरह सांड़ के शव को कुएं से निकाला तो स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली।

अब भले ही हाता मोहल्ले के लोगों को पानी मिलने लगा है लेकिन सवाल उठता है कि क्या नगर निगम को अपने नकारेपन पर कभी शर्म आएगी ?