सत्ता बदल गई निजाम बदल गया पर एआरटीओ प्रवर्तन की नहीं बदली यादव छवि

सत्ता बदल गई निजाम बदल गया पर एआरटीओ प्रवर्तन की नहीं बदली यादव छवि

पिछले एक माह से होटल प्रशांत में रुके हैं साहब,
1500 प्रतिदिन किराया व 1000 रु. प्रतिदिन खाने का कहां से चुकाया जा रहा बिल


यूपी में भले ही सरकार बदल गई है लेकिन प्रशाषनिक अधिकारियों  की तानाशाही ज्यों की त्यों बरकरार है , यही वजह है कि प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम है |
बता दें कि परिवहन विभाग द्वारा यूपी सरकार का ओवरलोडिंग पर सख्ती का आदेश महोबा जिले में ताक पर रख दिया गया है और मध्यप्रदेश से आने वाले बालू से लदे ओवरलोड ट्रक धड़ल्ले से निकल रहे हैं | और आरटीओ साहब बाइक व पिकअप के चालान कर अपना टारगेट पूरा कर रहे हैं , इसी कड़ी में आज साहब ने सब्जी से लदी गाड़ी ओवरलोड दिखाकर सीज कर दी |
अंधेर यह है कि 1500 रु. प्रतिदिन का किराया व 1000 रु. खाने का बिल शहर के प्रशांत होटल में पिछले एक माह से भुगतान कर और अपने कई गुर्गों को भी पालकर साहब जिले में डयूटी कर रहे हैं |
बाद सवाल यह है कि आखिर एआरटीओ प्रवर्तन को सरकार से कितनी तनख्वाह मिलती है ? 
सूत्रों से मिली जानकर के अनुसार जिले में ओवरलोड चल रहे बालू के डम्फर व ट्रकों से बकायदा माहवारी वसूल की जा रही है |
सूत्रों की मानें तो छोटी बड़ी सभी गाड़ियों को मिलाकर करीब 9 लाख रुपया प्रतिमाह बड़े साहब के पास दलालों के माध्यम से पहुंचाया जा रहा है |