आसाम को शर्मिंदगी झेलने से सुरक्षबलों ने बचाया, 3 साधुओं की जान लेने पर उतारू हो गई थी भीड़

आसाम को शर्मिंदगी झेलने से सुरक्षबलों ने बचाया, 3 साधुओं की जान लेने पर उतारू हो गई थी भीड़

असम के दिमा हसाओ जिले में माहुर रेलवे स्टेशन पर सेना और पुलिस कर्मियों ने तीन ‘ साधुओं ’ को बचाया । बच्चा चोरी की अफवाह के चलते भीड़ उनकी जान लेने पर उतारू थी। अधिकारियों के मुताबिक बच्चा चोरी की अफवाह के बाद सैंकड़ों लोग साधुओं पर हमला करने के लिए इकट्ठा हो गए। इसके बाद पुलिस अधिकारी और नजदीकी शिविर में तैनात सैन्यकर्मी आ गये।


भीड़ ने ‘साधुओं’ के सामानों को खुले में फेंक दिया और इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर साझा किया। इससे अफवाहों को और बल मिला। इस घटना के बाद कल उपायुक्त अमिताभ राजखोवा और पुलिस अधीक्षक प्रशांत सैकिया की अध्यक्षता में जिला प्रशासन की कल आपातकालीन बैठक बुलाई गयी। बैठक में विभिन्न समुदाय के प्रतिनिधि भी शामिल हुए। उन्होंने लोगों से अपील की कि जिम्मेदारीपूर्ण व्यवहार करें और सोशल मीडिया पर फैलायी जा रही अफवाहों में ना फंसें। 


ज़ाहिर है कि अगर सुरक्षाबल मौके पर नहीं पहुंचते तो 2 गायकों की तरह इन 3 साधुओं की जान भी भीड़ लेकर ही मानती।