इलाहाबाद के रंगकर्मियों ने खेली मंच पर होली

इलाहाबाद के रंगकर्मियों ने खेली मंच पर होली

कहते है कलाकार का सबकुछ उसकी कला ही होती है,और शायद हर पर्व को वो अपनी कला के माध्यम से या अपने साथियों के साथ मनाने में ज़्यादा खुशी महसूस करता है।कुछ इसी तरह का नज़ारा देखने को मिला इलाहाबाद के उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र के प्रेक्षाग्रह मे जहां रंगकर्मियों ने अपने साथियों के साथ होली खेल कर खुशिया बाटी,इलाहाबाद की संस्था और कोलकाता से आई एक संस्था का नाटक हुआ और बेहतरीन प्रस्तुति के बाद इलाहाबाद के रंगकर्मी भी कहा पीछे रहने वाले थे,बुनियाद फाउंडेशन के सदस्य भी मंच पर पहोच गए ओर अबीर,गुलाल लगा कर साथी कलाकारों के साथ खुशियों का इज़हार किया।बुनियाद फाउंडेशन के सचिव असगर अली ने कहा उन्हें हर पर्व अपने रंगकर्मी साथियो के साथ मनाना पसंद है ईद हो या बकरीद होली हो या दीवाली हर फेस्टिवल अपने साथियों के साथ मना कर ही उन्हें खुशी मिलती है।अंकित सिंह यादव ने सभी कलाकारों को रंग लगा कर उनको बधाई दी,रुचि गुप्ता ने कहा कि एक रंगकर्मी के लिए इससे ज़्यादा खुशी की बात नही हो सकती की उसका पर्व मंच पर मनाया जाए।वही इमरान खान पामेला ने कहा कि इससे ज़्यादा क्या मिसाल दी जाए की होली वाले दिन भी कलाकार अपने घर से दूर यहा नाटक करने आये जिससे ये पता चलता है कि एक कलाकार अपने कला को लेकर कितना डेडिकेटेड होता है।वरुण कुमार ने कलाकारों की अच्छी प्रस्तुति को इस पर्व का तोहफा होना करार दिया।इस मौके पर अकृत अनि,समेत कई शहर के रंगकर्मी उपस्थित रहे।